हर घर में नल से जल और चुनौतियां दुनिया भर में जल संकट गहराता जा रहा है औऱ देश में हालात अच्छे नही हैं. देश में करीब 60 करोड़ लोग ऐसे इलाकों में रहते है जहां पानी का संकट गहराता जा रहा है.. नीति आय़ोग के आकड़ें बताते हैं कि 2020 तक देश के 21 शहरों में ग्राउंड वॉटर खत्म हो सकता है...वहीं 2030 तक देश में पानी की मांग दोगुनी हो जायेगी औऱ देश की 40 फीसदी जनसंख्या को पीने का पानी मिलना मुश्किल होगा....

जीवन के लिए पंचतत्वों को आधार माना गया है। उनमें से एक तत्व पानी भी है। जल के बिना जीवन की कल्पना भी नहीं की जा सकती । अगर जल न होता तो सृष्टि का निर्माण भी संभव नही होता। जल का महत्व इस बात से भी समझा जा सकता है कि दुनिया की बड़ी-बड़ी सभ्यताएं नदियों के किनारे ही विकसित हुई और प्राचीन नगर नदियों के तट पर ही बसे। लेकिन आज विकास की अंधी दौड़ में प्राकृतिक संसाधनों का कोई मोल नहीं रह गया है। विलासिता की आड़ में मनुष्य ने जल का इतना दोहन कर लिया है कि आज दुनिया की आधी आबादी को पीने का स्वच्छ पानी तक मुहैया नहीं है। भारत भी इससे अछूता नहीं है और तमाम रिपोर्ट इस बात को मजबूती से दोहरा रही हैं कि

1 billion people in India, or 100 million more than the number of voters we have in India, live in water scarcity! And this number is expected to go up to 5 billion by 2050. This is the appalling statistic that has come out from research by Water Aid on Monday. Club this with the fact that one in every eight deaths in India is attributable to air pollution in India, the Ganga River is far dirtier than what it was a few years back and the health cost of environmental challenges can go up to 3% of our GDP, which is higher than our health budget.

Ganga, the 2600-km-long trans-boundary river of India, has witnessed "unprecedented low levels of water in several lower reaches" in the last few summer seasons. This is as per a study undertaken by a professor of IIT-Kharagpur.

Sarokar : Drinking Water Crisis In Urban India

As summer peaks and rationing of water begins, Delhi colonies and slums are turning into regular battlefields. Are we going to let one more summer pass and hope the problem will go away? Or are we going to wake up before water wars take over our lives. We discuss with an expert panel on Urban Reality.

Water today is undervalued, misused and misallocated. Too many of us take it for granted - we turn on the tap and it flows. But did you know only 4% of Earth’s water is freshwater and only 0.5% of that is safe for human consumption? As shocks of drought and deluge unleash their devastation, water has forced itself to center stage. It demands that we change fundamentally; it asks that we value it profoundly.

India is facing a perfect storm in managing water. There is a report that says India's underground water tables are disappearing fast. WION brings you this story

Challenge to preserve water

Badi Charcha: Water Crisis ( बिन पानी सब सून)

Pages