लगातार बढ़ती आबादी और शहरीकरण के साथ भारत में पिछले एक दशक में कचरे के ताबाद बहुत तेजी से बढ़ रही है. सालाना लगभह 3 करोड़ 65 लाख टन कचरा पैदा होता है. कुल जमा किए गए कचरे में से 94 फीसदी को जमीन पर डाला जाता है और 5 फीसदी कम्पोस्ट होता है.

Despite the negative image about Bhopal created by the Union Carbide gas leak tragedy, the position is different when it comes to the city's concerns for its environment.

Ragpickers are a city s vital service providers: they clean it up

Pages