हरिद्वार। नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल (एनजीटी) ने हरिद्वार में पॉलीथिन के प्रयोग पर प्रतिबंध लगा दिया है। अब पॉलीथिन के प्रयोग करने पर पांच हजार रुपये जुर्माना लगेगा। गुरुवार को एनजीटी ने लोकल कमिश्नर क

हल्द्वानी। मंगलवार को राजस्व व खनन विभाग की संयुक्त टीम ने कालाढूंगी क्षेत्र के अर्जुनपुर नयागांव में छापा मार कर 7290 घन मीटर अवैध खनन पकड़ा। टीम ने 33 लाख रुपये का जुर्माना लगाया है। प्राप्त जानक

निर्माण कार्य के दौरान वृक्षों को बचाने के लिए कारगर कदम नहीं उठाने पर राष्ट्रीय हरित न्यायाधिकरण (एनजीटी) ने लोक निर्माण विभाग को अदालत की अवमानना का नोटिस भेजा है। विकासपुरी-मुकरबा चौक एलीवेटेड र

गर्मी बढ़ने के साथ-साथ उपनगरी द्वारका में पेयजल की समस्या भी गहराने लगी है। इस संबंध में बार-बार डीडीए अधिकारियों से शिकायत करने के बावजूद यहां के लोगों की समस्या का समाधान नहीं हो रहा है। द्वारकाव

रिहायशी इलाकों में चल रहीं प्रदूषण फैलाने वाली फैक्टरियों के खिलाफ नगर निगम शाहदरा दक्षिणी जोन द्वारा शुरू किया गया अभियान दूसरे दिन भी जारी रहा। अभियान के दूसरे दिन छह फैक्टरियां सील की गई।

ग्लोबल वार्मिग से सभी देशों के लोगों के स्वास्थ्य को खतरा है। इससे लोगों के लिए विषम, अप्रत्याशित और न बदल सकने योग्य परिवर्तन का खतरा उत्पन्न हो गया है। अमेरिकन एसोसिएशन फॉर द एडवांसमेंट ऑफ साइंस

उत्तराखंड तबाही के बाद प्रस्तावित पनबिजली परियोजनाओं का मामला

उत्तराखंड में आई जल तबाही को ध्यान में रखते हुए अलकनंदा और भागीरथी नदी पर प्रस्तावित 24 पनबिजली परियोजनाओं के प्रभाव का अध्ययन करने के लिए केंद्र सरकार ने विशेषज्ञ समिति गठित कर दी है। यह जानकारी केंद्र सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में दाखिल किए गए ताजा हलफनामे में दी है। हालांकि, सरकार ने पर्यावरण और जैव विविधिता पर समग्र अध्ययन करके रिपोर्ट देने के लिए कोर्ट से 14 अप्रैल तक का समय और दिए जाने की मांग की है।

प्रहलादपुर बांगर स्थित ऐतिहासिक जोहड़ (तालाब) के प्रति अब भी लोगों में आस्था है, लेकिन उसकी सुध सरकार ने अब तक नहीं ली। कभी मीठे पानी के तालाब के नाम से प्रसिद्ध यह ऐतिहासिक जोहड़ आज नाले में तब्दील

आगामी मानसून के अलनीनो से प्रभावित होने से सूखे के खतरे को देखते हुए सरकार उस कर कड़ी नजर रख रही है। सूखे से निपटने के लिए मौसम और कृषि वैज्ञानिकों को तैयार रहने को कहा गया है। हालांकि कृषि मंत्री शरद पवार ने खाद्यान्न पैदावार के लिए फिलहाल इसे गंभीर संकट मानने से इन्कार किया है। उन्होंने कहा कि सरकार मानसून की हर गतिविधि की गहन निगरानी कर रही है। 1पवार के साथ बैठक में मौसम विभाग के वैज्ञानिकों ने इस बारे में फिलहाल कुछ भी स्पष्ट बताने से इन्कार कर दिया।

केंद्रीय कृषि मंत्री शरद पवार ने बुधवार को पूसा कृषि विज्ञान मेला का उद्घाटन किया। उद्घाटन के बाद कृषि मंत्री स्टॉलों को देखने गए। संस्थान की ओर से लगाए गए स्टॉलों पर उन्हें वैज्ञानिकों ने भारतीय क

Pages